‘धान का कटोरा’ से निकले बिहार टॉपर, खास बातें

Bihar Matric Toppers 2020: आ गया है। इस बार के रिजल्ट में खास बात रही कि बिहार बोर्ड की ‘टॉपर फैक्ट्री’ के नाम से प्रसिद्ध सिमुलतला आवासीय विद्यालय का इस पर कोई खास प्रदर्शन नहीं रहा। कुल 41 छात्रों ने टॉप 10 में जगह बनाई है। उनमें से 10 लड़कियां और 31 लड़के हैं। इस बार सिमुलतला आवासयी विद्यालय के महज 3 छात्र टॉपरों में शामिल है। इस बार रोहतास जिले ने चौंकाया है जहां के 8 टॉपर बने हैं। रोहतास को ‘धान का कटोरा’ कहा जाता है। रोहतास के ही हिमांशु राज ने 96.20 फीसदी यानी 481 नंबरों के साथ बिहार टॉप किया है। आइए आज रोहतास के बारे में कुछ खास बातें जानते हैं…

धान का कटोरारोहतास बिहार के 38 जिलों में से एक जिला है। यह 1972 में उस समय अस्तित्व में आया जब शाहाबाद जिले को विभाजित करके दो नया जिला भोजपुर और रोहतास बनाया गया। रोहतास जिला पटना डिविजन का हिस्सा है और इसका प्रशासकीय मुख्यालय सासाराम में है। धान की ज्यादा पैदावार के कारण बिहार के इस जिले को धान का कटोरा कहा जाता है। वैसे आपको बता दूं कि देश में छत्तीसगढ़ ऐसा राज्य है जिसे धान का कटोरा कहा जाता है।

इसे भी पढ़ें:

सिमुलतला का रहता था दबदबाकुछ सालों से जमुई के सिमुलतला आवासीय विद्यालय का दबदबा रहा है। साल 2015 में यह स्कूल सुर्खियों में उस समय आया था जब 31 टॉपरों में से अकेले 30 इस विद्यालय के टॉपर थे। साल 2016 में बिहार बोर्ड के 10वीं क्लास में टॉप 10 में 42 छात्र यहां के थे। पिछले साल भी टॉप 10 के 18 टॉपरों में से 16 टॉपर अकेले इस स्कूल के थे।

इसे भी पढ़ें:

टॉपर लिस्टपहली रैंक- हिमांशु राज (481/500)
दूसरी रैंक- दुर्गेश कुमार (480/500)
तीसरी रैंक- शुभम कुमार (478/500), राजवीर (478/500) और जूली कुमारी (478/500)
चौथी रैंक- सन्नू कुमार (477/500), मुन्ना कुमार (477/500) और नवनीत कुमार (477/500)
पांचवीं रैंक- रंजीत कुमार गुप्ता (476/500)
छठी रैंक- अंकित राज (475/500)

Rate this news please

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

WhatsApp chat